Categories

Posts

खुली चुनौती

खुली चुनौती

डॉ विवेक आर्य

आजकल सभी अखबारों में ,रेलवे स्टेशनों पर रेल गाड़ियों ने बसों में तथा लगभग सभी सार्वजानिक दीवारों पर आपको औलियाओं ,मोलवियों ,बंगाली मियां जादूगर बाबाओ और तांत्रिको के विज्ञापन , स्टिकर व् पोस्टर लगे मिल जाएंगे जिनमे तरह–तरह के झूठे आश्वासनों और घटिया हथकंडो का सहारा लेकर भोले-भाले और मूर्ख ( विशेषकर महिलाओं ) लोगों को उनकी तकलीफों ,समस्याओं, गृहकलेशों, आर्थिक व पारिवारिक समस्याओं ,प्रेम संबंधों आदि से छुटकारा दिलाने का झूठा और बेबुनियाद झांसा देकर फसाया जाता है। उनका आर्थिक ,मानसिक और शारीरिक शोषण किया जाता है। उनके दुःख-दर्द आदि का नाजायज फ़ायदा उठाया जाता हैं तथा उन्हें मानसिक रूप से विकृत बना दिया जाता है। जबकि इन बदमाश औलियाओं ,मौलवियों ,बंगाली मियां जादूगर बाबाओ और तांत्रिको आदि के पास ऐसी कोई अलौकिक ताक़त या इल्म आदि नहीं होता, जिससे ये किसी का भला कर सकें अपितु ये खुद व्यभिचारी, धूर्त, नशेड़ी, अय्याश, चालबाज़ ,धोकेबाज़ और अपराधिक प्रवृति के होते है।

जैसा कि हम अखबारों में पढ़ते हैं और टीवी पर समाचारों में देखते है कि आये दिन फलां मौलवी या औलिया ने किसी महिला को नशीला पदार्थ खिला कर उसका शील भंग कर दिया और उसकी विडियो फिल्म बना कर उसे ब्लैक मेल करने लगा या किसी व्यक्ति का कोई काम करवाने के एवज़ में लाखो रूपये ठग लिए या किसी बाँझ महिला से किसी निरपराध बच्चे की बलि दिलवा कर उसे अपराधी बना दिया आदि। इसलिए आज मैं उन सभी करामाती औलियाओं ,मोलवियों ,बंगाली मियां जादूगर बाबाओ और तांत्रिको को खुली चुनौती देता हूँ कि वे निम्न में से किसी एक चुनौती पर भी खरे उतर कर दिखा दे तो मैं आजीवन उनका चेला बनकर रहूँगा।

निम्न प्रकार के कार्य धोखारहित परिस्थितियों में करके दिखाएँ –

1- जो किसी सीलबंद करेंसी नोट की ठीक नकल पैदा कर दिखा दे।
2- जो किसी सीलबंद करेंसी नोट का नंबर पढ़ कर दिखा दे।
3- जो जलती आग में अपने पीर आदि की सहायता से दस मिनट के लिए नंगे पैर खड़ा हो सकता हो।
4- ऐसी वस्तु जो मैं चाहूं, हवा में से तुरंत प्रस्तुत कर दे।
5- टेलीपैथी द्वारा किसी दूसरे व्यक्ति के विचार पढ़ कर बता सकता हो।
6- मनोवैज्ञानिक शक्ति से किसी वस्तु को हिला या मोड़ सकता हो।
7- इबादत , रूहानी ताक़त जम-जम पानी से या पाक राख से अपने शरीर को एक इंच बढ़ा सकता हो।
8- जो रूहानी ताक़त से हवा में उड सके। ( पीर बाबा ध्यान दें )
9- रूहानी ताक़त से पांच मिनट के लिए किसी अन्य व्यक्ति को मृत करके दोबारा जीवित कर सके।
10- पानी पर पैदल चलकर दिखा सके।
11- अपना शरीर एक स्थान पर छोड़ कर दूसरी जगह हाजिर हो सके ।
12- रूहानी ताक़त से 30 मिनट के लिए श्वास क्रिया रोक सके।
13- रचनात्मक बुद्धि का विकास करे। इबादत या आसमानी ताक़त से अत्मज्ञान प्राप्त करे।
14- करामाती या रूहानी इल्म से किसी भी विदेशी -प्रादेशिक भाषा में बोल सके।
15- ऐसी रूह ,जिन्न, मुवकिल या खबीस हाजिर करे, जिसकी फोटो खींची जा सकती हो।
16- फोटो खींचने के बाद वह फोटो से अलोप हो सके।
17- ताला लगे कमरे में से रूहानी ताक़त से बाहर निकल सके।
18- किसी चीज का वज़न बढ़ा सके।
19- छिपी हुई वस्तु को खोज सके।
20- पानी को शराब या पेट्रोल में बदल सके।
21- शराब को रक्त में बदल सके।

ऐसे आलमी ,औलिया ,मौलवी व बंगाली मिया जादूगर जो यह कह कर लोगों को गुमराह करते हैं कि काला जादू वगराह वैज्ञानिक है, तो मेरी चुनौती स्वीकार करें। जैसी कि मुझे उम्मीद ही नहीं पूरा विश्वास है कि मेरी ये कुछ तुच्छ चुनौतियाँ कोई माई का लाल आलिम ,औलिया ,मौलवी व् बंगाली मिया जादूगर स्वीकार करने का दम नहीं रखता तो मै अपने सभी भाइयों-बहनों से से ये प्रार्थना करता हूँ की आप इन बदमाशों के चक्कर में पड़कर अपना धन ,समय ,स्वास्थ्य और इज्जत न गवाएं। ये सभी मुर्ख बनाते है। आप अपनी बुद्धि का प्रयोग करते हुए इस छल -कपट से बचे।

आपकी समस्याओं का सबसे बेहतर समाधान केवल इश्वर के पास है जिसे आप अपने विवेक से ही प्राप्त कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)