संगीतमय भव्य गाउ कथा एवं यज्ञ सम्पन्न

May 28 • Uncategorized • 330 Views • No Comments

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...

27, 28, 29 सितम्बर 2013 को प्रातःकालीन सत्र में 8 से 10 बजे तक गुरुकुल हसनपुर की कन्याओं द्वारा यज्ञ में सस्वर वैदिक सूक्तमाला ;गायत्री- महामंत्र, आत्मपावन सूक्त, लक्ष्मी सूक्त, सरस्वती सूक्त, सुमंगल सूक्त, संजीवनम् सूक्त, वाण्ज्यि सूक्तद्ध के मंत्रो का पाठ श्री यशपाल शास्त्री के ब्राह्व में हुआ। बीच-बीच में मन्त्रों का भाव यज्ञमानों और उपस्थित श्रद्धालुओ के बीच रखा गया, जिसकी उन्होंने बहुत प्रशंसा की।

सायंकालीन सत्र में 3 से 6 बजे पंभ धूमसिंह गोवंशी जी एवं साथियों द्वारा संगीतमय गाउ कथा तीनों दिन हुई। यज्ञ स्थल पर गाउ माता के साक्षात दर्शन, पालन और दुग्ध से किन राजाओं एवं प्रजा ने लाभ उठाकर सन्तान तक की प्राप्ति की, जानकर जनता का ज्ञानवर्धन हुआ। दोनों सत्र में श्रीमती कुसुम गुप्ता एवं सत्यवती वाष्र्णेय आदि के सहयोग से प्रसाद वितरण किया गया। ‘‘देवतं ब्र२ गायत्’’, ‘धेनु  सदनम् रयीणाम्’, गावः विश्वस्य मातरः, गावः स्वर्गस्य सोपानं, इत्यादि पटकों, झण्डों से 243 ए.जी.सी.आर. एन्कलेव का भव्य भवन सुशोभित था। दोनों समय इस अभूत-पूर्व कार्य में उपस्थिति भी संतोषजनक थी।

आर्य केन्द्रीय सभा के वरिष्ठ उपप्रधान एवं सुयोग्य शिक्षाविद् श्री सुरेन्द्र कुमार रैली ने इस कार्यक्रम में उपस्थित जनता को सम्बोधित किया और वेद के साथ गाउ कथा जोड़कर आर्य समाज, सभी महिला मंडलों, गौरी शंकर समीति, रेजिडैन्ट वैलफेयर ऐसोसिऐशन, हाउस बिल्डिंग सोसाइटी ए.जी.सी.आर एन्कलेव के सभी निवासियों को जोड़कर लीक से हटकर इस कार्यक्रम को आयोजित कराने की आर्य डाभ ओमप्रकाश भट्नागर ‘‘यज्ञ श्री’’ ;मंत्रीद्ध की भूरी-भूरी प्रशंसा की। एक हजार राशि देने वाले सभी दानदाताओं एवं लब्ध प्रतिष्ठित सज्जनों को लघु ग्रन्थ
संग्रह पुस्तक भेट की गई।

Related Posts

Comments are closed.

« »

Wordpress themes