Categories

Posts

ऋषि दयानन्द 19 वीं सदी की एक महान् विभूति

उन्नीसवीं शताब्दी के मध्य तथा अन्तिम चरण में भारत का भाग्य एक नया मोड़ ले रहा था। सदियों से सुप्त पड़ी इस देश की चेतना अव्यक्त से व्यक्त की तरफ…

पुस्तकों के प्रचार से क्या होता है..?

विश्व पुस्तक मेला को ज्ञान का कुंभ और पुस्तकों को ज्ञान की गंगा की संज्ञा दी जाती है। दिल्ली में साल दर साल इस ज्ञानकुंभ का आयोजन करने का उद्देश्य…

स्वामी श्रद्धानन्द के 93वें बलिदान दिवस पर विशाल शोभायात्रा एवं श्रद्धाजलि

राष्ट्र एवं मानव सेवा को समर्पित आर्य समाज के प्रेरणा स्तंभ अमर हुतात्मा स्वामी श्रद्धानन्द के 93वें बलिदान दिवस पर आर्य केंद्रीय सभा दिल्ली राज्य के तत्वावधान में विशाला शोभायात्रा…

रामप्रसाद बिस्मिल: ब्रिटिश साम्राज्य के समूल विनाश की प्रतिज्ञा करने वाला अमर क्रांतिकारी

बलिदान विशेष  ‘बिस्मिल’ से मिलने गोरखपुर जेल पहुंचीं उनकी मां ने डबडबाई आंखें देखकर उनसे पूछा था, ‘तुझे रोकर ही फांसी चढ़ना था तो क्रांति की राह क्यों चुनी?’ 1897…